Bharat Mein Paise Kahan Or Kaise Chhapte Hain || भारत में पैसे कहाँ और कैसे छपते हैं

क्या आपको पता हैं कि हमारे देश में पैसे कहा छपते हैं? और कैसे छापे जाते हैं। शायद आपको पता नही होगा। आजकल सभी लोग पैसे के पीछे भाग रहें हैं। पैसा एक ऐसी चीज हैं जिसके बिना जीवन जीना मुश्किल हैं क्योंकि आज हर काम में पैसे की जरूरत तो पड़ती ही हैं। लेकिन क्या आपको पता हैं पैसे कैसे बनाते हैं? और पैसे कहा और कैसे छपतें हैं। 


आप में से बहुत ही कम लोगों को यह पता होगा कि हमारे देश में पैसा कहा और कैसे बनता हैं? तो दोस्तों आज के इस Artical में मैं आपको बताऊंगा की :-

हमारें देश में पैसे का पेपर कहा तैयार होता हैं?

हमारें देश में पैसे छापने की मशीन कहाँ हैं?

पैसे कैसे छपतें हैं?

खराब नोटों का क्या किया जाता हैं?

पैसे हम तक कैसे पहुँचते हैं?


दोस्तों आज इन सभी सवालों का जवाब आपको इस Artical में मिल जाएगा। इसलिए इस Artical को पूरा और ध्यान से पढ़े।




पैसें का पेपर कहाँ तैयार होता हैं?

पैसे का पेपर ज्यादातर दुनियां के 4 देशो में तैयार होता हैं। इन देशों में पेपर बनाने की आधुनिक मशीनें हैं। तो चलिए जानते हैं कि वो कौन से 4 देश हैं जहाँ पर पैसे के पेपर ज्यादातर तैयार किये जाते हैं।

1) अमेरिका 
2) फ्रांस
3) स्वीडन
4) भारत





हमारें देश मे पैसा छापने की मशीनें कहा हैं?

हमारें देश मे पैसा छापने की मशीनें मध्यप्रदेश के देवास, मैसूर, सालबोनी और नासिक जिलों में हैं। देवास में नोटों की श्याही और 10,50,और 500 के नोट बनाये जाते हैं, मैसूर में 2000 के नोट बनाए जाते हैं। इसके अलावा आपको बता दे कि देवास में एक साल में 265करोड़ नोट छापे जाते हैं। इसके अलावा हमारे देश मे एक पेपर मील, 4 बैंक प्रेस और 4 टकसाल मील हैं। 





टकसाल मील कहाँ हैं?

टकसाल मील हमारे देश के 4 शहरों में हैं जिनमें
1) मुम्बई,
2) हैदराबाद,
3) कोलकाता,
4) नोएडा, 
शामिल हैं। 

नोट छपाई के पेपर हमारे देश में विदेशों से मंगवाए जाते हैं। भारतीय नोटों में 3 जगह का पेपर उपयोग में लाया जाता हैं।

1) महाराष्ट्र की करेंसी नोट प्रेस,
2) ज्यादातर पेपर मध्य्प्रदेश से आता हैं।
3) कुछ पेपर को विदेशों मंगवाया जाता हैं।

नोट बनाने में खास कॉटन से बने पेपर ओर खास श्याही का इस्तेमाल होता हैं। ये श्याही दिवास के बैंक नोट प्रेस से ओर सिक्किम में स्वीच फर्म यूनिट में बनती हैं।





पैसे कैसे छापे जाते हैं?

सबसे पहले विदेश और होसंगाबाद से आये पेपर को Saymnton मशीन में डाला जाता हैं। उसके बाद पेपर को निकल कर फिर पुनः दूसरी मशीन Intabu में डाल जाता हैं। फिर मशीन से तैयार हुए नोटों को सीट पर अच्छे और खराब नोटों को अलग कर दिया जाता हैं। इसके बाद जो नोट सही से बन जाते हैं उन नोटों पर नंबर डाले जाते हैं और नम्बर डालने के बाद फिर से एक एक नोट को अच्छी तरह से जाँचा जाता हैं।







खराब नोटों का क्या करते हैं?

जो नोट खराब या फिर फट जाते हैं तो उन नोटों को बैंकों में जमा कर दिया जाता हैं और फिर बैंक उन नोटों को मुख्य कार्यालयों में भेज देता हैं। मुख्य कार्यालयों में जाने के बाद उन नोटों की अच्छे से जाँच की जाती हैं और फिर उन खराब या फटे हुए नोटों की जगह नए नोट बनाये जाते हैं।




Post a Comment

0 Comments