Aladdin Ka Chirag Kahan Dafan Hain || अलादीन का चिराग कहा दफन हैं

Aladdin हमारी दुनियां का एक ऐसा क़िरदार था जो क्या पता कितनी सदियों तक याद रखा जाएगा। हम Aladdin ओर Aladdin के Chirag की कहानियां बचपन से देखते और सुनते आ रहें हैं। 


Aladdin Ka Chirag Kahan Dafan Hain


Aladdin और Aladdin के Chirag की कहानियां हमें हमारे दादा - दादी या नाना - नानी से सुनने को मिली मेरा ऐसा कहने का मतलब यह हैं कि Aladdin और Aladdin के Chirag की कहानियां हमारी दुनियां में सदियों से मौजूद हैं। आज  Aladdin और Aladdin का Chirag  हमारे दिमाग में ऐसे बसा हुआ हैं कि जैसे लगता हैं कि Aladdin और Aladdin के Chirag की कहानियां हमारी दुनियां में अनन्त काल से मौजूद हैं। 


लेकिन आज मैं इस पोस्ट में आपको Aladdin ओर Aladdin के जादुई Chirag की कुछ ऐसी हकीकत से रूबरू कराऊँगा जिसके बाद आप इस कहानी को एक अलग नजर से देखने लगोगे।



हमें ये तो पता हैं कि अलादीन एक मुस्लिम लड़का था जिसे एक ऐसा Chirag मिल जाता हैं जिसमे से एक शक्तिशाली Jinn निकलता था और बोलता था क्या हुक़्म हैं मेरे आका।

हम में से ज्यादातर लोगों को यह भी पता हैं कि Aladdin को Chirag कैसे मिला था। और अगर आपको नही भी पता तो कोई बात नही क्योंकि इस पोस्ट में मैं आज आपको वो तो बताऊंगा ही लेकिन Aladdin के मरने के बाद Jinn को वो कौन सा आखरी हुक़्म था। ओर कहा छुपा के या दफन करके रखा गया था वो जादुई और शक्तिशाली Chirag।






तो आइए आज पढ़ते हैं Mysterious Ending 
Aladdin के Magic Lamp यानी कि  Chirag  की कहानी 

अलादीन ओर अलादीन के चिराग की कहानी आज से लगभग 300 साल पहले लोगों के सामने आई किसी का मानना हैं की इसे एक कहानी के तौर पर आज से लगभग 300 साल पहले लिखा गया था। लेकिन कुछ ऐसे जिज्ञासु लोग भी हैं जो यह मानते हैं कि यह कोई कहानी नही बल्कि एक हकीकत थी। और लोग इसे याद रख पाए इसीलिए इसे लिखा गया था। जैसे कि - हमारी GEETA, MAHABHARAT, QURAN ओर PURAN लिखी गयी थी।

लेकिन जो भी हो इसे आप किस तरह से याद रखते हो एक कहानी के तौर पर या फिर एक हकीकत समझकर हमें कमेंट करके जरूर बताए। 

तो चलिए अब हम अलादीन और उसके की कुछ Mysterious जानते हैं। क्योंकि आज भी यह एक ऐसी Mystery बनी हुई हैं। जैसे कि - 
उस चिराग का क्या हुआ था? 

चिराग को कहा छुपाया गया? 

अलादीन के द्वारा अपने जीन की दिया गया आखरी हुक्म था?
___________________________________________ 

मशहूर कहानी अलादीन के हिसाब से अलादीन ईराक के पास बाग्दाद् का रहने वाला था लेकिन उसके Father China से माइग्रेड करके आये थे। अलादीन एक बहुत ही फुर्तीला और शातिर बताया गया था। जब एक जादूगर ने अलादीन को चिराग लाने के लिए कुछ पैसे दिए तो अलादीन पैसो की लालच में चिराग लाने के लिए मान गया। 

फिर अलादीन चिराग लाने के लिए निकल पड़ा लेकिन उस जादूगर ने अलादीन को जीन के बारे में कुछ भी नही बताया था। चिराग हासिल करते समय अलादीन को उसी रास्ते पर कठिनाइयों के तौर पर एक ऐसा पड़ाव पार करना था जहाँ उसे एक अंगूठी मिली लेकिन इसके पहले कभी जीन और ऐसी ताकतों का पता न होने के कारण अलादीन ने उस अंगूठी को पहन लिया और आगे निकल पड़ा।

आखिरी पड़ाव के तौर पर उसे चिराग मिल ही गया लेकिन aladdin ने Chirag उस जादूगर को दे दिया और अपने पैसे ले लिए और यही पर असली कहानी शुरू होती हैं। Aladdin अब अंगूठी पहने अपने रास्ते पर था जो उसकी अंगूठी उसके हाथ से रगड़ गयी और अचानक से Aladdin के सामने भयानक jinn सामने आ गया। यह jinn दिमाग से तो ज्यादा ताकतवर था लेकिन यह jinn Chirag के Jinn से कम ताकतवर था। 

जैसे ही अलादीन के सामने जीन आया जीन ने कहां क्या हुक़्म हैं मेरे आका। यह सुन कर aladdin डर गया। लेकिन फिर उस jinn ने Aladdin को सारी हकीकत और उस चिराग के जीन की ताकत से उसे वाकिफ करा दिया। ख्वाहिश के तौर पर अलादीन ने इस Jinn से chirag मांगा ताकि उसे Chirag का jinn भी मिल जाए लेकिन ऐसा वह अंगूठी का jinn नही कर सकता था। क्योंकि अगर ऐसा होता तो दुनियां के सारे जिन्नों का एक ही मालिक हो जाता। 

लेकिन अंगूठी का jinn दिमाग से शातिर था तो उस ने aladdin को कहा कि मैं तुम्हे रास्ता बताऊंगा Chirag वाले jinn तक पहुँचने का पर उसके लिए तुम्हे मुझे हमेशा के लिए आजाद करना होगा। यह सुन कर aladdin के कहा ठीक हैं तुम मुझे chirag वाले jinn तक कैसे पहुँचना हैं वो बताओ ओर मैं तुम्हे आजाद कर दूंगा।

अंगूठी वाले Jinn की बताई बात से Aladdin चिराग तक तो पहुँच गया लेकिन अंगूठी वाला jinn उस दुनियां से आजाद हो गया। अब अलादीन के पास chirag के जीन की ताकत और खुद का शातिर दिमाग था। इसी वजह से Aladdin वकतात का सबसे ताकतवर ओर अमीर आदमी बन गया। ओर वहां की शहजादी से शादी कर वह राज सिंहासन पर बैठ गया। बाद में aladdin अपनी पूरी जिंदगी लोगों को भलाई करने के लिए जिया ओर अपने jinn को भी अपने भाई की तरह रखा।


लेकिन आखरी वक्त जब अलादीन की मौत आई तो क्योंकि मौत तो एक ऐसा jinn हैं जिसे कोई भी नही हरा सकता। मौत इस दुनियां में सबसे ताकतवर हैं। जो अपना काम बहुत ही खूबी से करती हैं, और उसे कोई नही रोक सकता।

अब जब अलादीन को लगा कि वह अब मारने वाला हैं तो aladdin ने अपने jinn को बहुत ही समझदारी से ऐसा हुक़्म दिया की मौत भी aladdin की प्रशंसा करने लगी। क्योंकि अलादीन ने jinn को हुक़्म ही कुछ ऐसा दिया था। aladdin ने आखरी वक्त चिराग हाथ मे लिया और उसमें से Jinn बहार आया और उसने बोला क्या हुक़्म है मेरे आका और aladdin ने कहा ए मेरे jinn जा और ऐसी जगह दफन हो जा जहाँ तेरा दीदार अब किसी को भी ना हो और जो तुझे चाहता हो पाना उसे अपनी मौत के बाद ही तेरा दीदार हो सके ताकि तेरी जैसी ताकत से कोई भी ना कर सके बुराई यही है हुक़्म आखरी मेरे भाई।

कहते हैं कि jinn को aladdin ने गुलाम ना मानकर अपना भाई माना था। इसलिये अलादीन की मौत के बाद चिराग उसके वालिद यानी कि उसके पिता के गांव मतलब चीन के Tian Shan Mountain जो सेंट्रल एशिया में स्थित हैं वहाँ आज भी दफन हैं। इस पहाड़ी को जन्नत का रास्ता भी कहते हैं क्योंकि मारने के बाद jinn इंसान को जन्नत में ले जाते हैं।

So Guys ये Post आपको कैसी लगी आप अपनी राय Comment में जरूर बताइयेगा और अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो इस post को अपने सभी दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूले।




Post a Comment

1 Comments